×

झुंझुनू : 250 साल पुराने रूपाणा धाम बालाजी मंदिर में डेढ़ क्विंटल चांदी व एक किलो सोने से तैयार हो रहा है हनुमान जी का सिंहासन

झुंझुनू : 250 साल पुराने रूपाणा धाम बालाजी मंदिर में डेढ़ क्विंटल चांदी व एक किलो सोने से तैयार हो रहा है हनुमान जी का सिंहासन

झुंझुनूं जिले के गांव भीमसर में लोगों की आ​स्था का केन्द्र रूपाणा धाम बालाजी मंदिर में हनुमानजी का सिंहासन चांदी व सोने से तैयार किया जा रहा है। सिंहासन में डेढ़ क्विंटल चांदी व एक किलो सोने का उपयोग किया जाएगा। मंदिर ट्रस्ट के सदस्य सुमित टीबड़ा ने बताया कि यह मंदिर करीब 250 वर्ष पुराना है।
मंदिर का 1987 में जीर्णोद्धार किया गया था। 1987 के बाद मंदिर में भक्तों की ओर से जो भी चढ़ावा व सोने चांदी के छत्र चढ़ाए गए उनको मंदिर में ही संभाल कर रखा गया। इन सोने चांदी के छत्रों को गलाने से करीब डेढ क्विंटल चांदी और एक किलो सोना तैयार हुआ है। इसी सोने व चांदी से बालाजी महाराज का सिंहासन तैयार करवाया जा रहा है।

ट्रस्ट के सदस्य सुमित टीबड़ा ने बताया कि ट्रस्ट धार्मिक के साथ—साथ सामाजिक सरोकार भी निभा रहा है। गरीब कन्याओं की शादी हो या फिर गरीबों को मकान बनाकर देने की बात, हर काम में ट्रस्ट आगे रहता है। गांव में पाइपलाइन बिछाने में भी ट्रस्ट ने सहयोग दिया है।
भीमसर के रूपाणा धाम बालाजी मंदिर में अप्रैल और अक्टूबर में लगने वाले मेलों में देश के कोने-कोने से प्रवासी आते हैं। हालांकि कोरोना के कारण मेलों व अन्य धार्मिक आयोजन पर रोक लगी हुई है।

Share this story