×

मधुबनी : भयंकर क्षति:आंधी-तूफान से हुई क्षति का जायजा लेने पहुंचे विधायक

मधुबनी : भयंकर क्षति:आंधी-तूफान से हुई क्षति का जायजा लेने पहुंचे विधायक

लौफा, बेलौचा आदि पंचायत में आँघी तूफान से हुए नुकसान का जायजा लेने बुधवार को पहुंचे विधायक नितीश मिश्रा। जिसपर संवेदनशीलता दिखाते हुए दोपहर बाद लौफा पहुँचते ही विघायक ने सर्वप्रथम बीडीओ, सीओ से क्षति की जानकारी ली। उन्होंने क्षतिग्रस्त आवासीय घर, फलदार पेड़ एवं घायल हुए लोगों का विस्तृत से जानकारी ली। उपस्थित अधिकारियों को निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि इसकी रिपोर्ट अविलम्ब प्रेषित करें।प्रखंड क्षेत्र के कई पंचायत के लोगों की शिकायत थी कि इस क्षेत्र के लोगों को आंधी तूफान से काफी नुकसान हुआ है।

सैंकड़ों संख्या में उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि देखने से लग रहा है कि इस इलाके में तूफान से काफी क्षति हुई है। अंचल अधिकारी और कृषि पदाधिकारी क्षति का आकलन कर रहे हैं। सरकार की ओर से मिलने वाली हर सम्भव सहायता पीड़ित परिवार को उपलब्ध कराई जाएगी। मौके पर बीजेपी के जिला महामंत्री चन्द्रकान्त मिश्र,बीजेपी के लखनौर मंडल अघ्यक्ष नन्दकिशोर महतो, कौशल झा ,जदयू के लोकसभा प्रभारी शुभम दास,बीजेपी के पंचायत अघ्यक्ष नवनीत दास,जदयू के पंचायत अघ्यक्ष अर्जुन साफी,अशोक दास,सतनेश्वर सिंह, वर्तमान मुखिया नजमुल हौदा एवं सैकड़ों संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

इधर, नगर पंचायत के सफाईकर्मियाें ने भी विधायक को सौपा मांग-पत्र

अपनी हक हकूक और न्यूनतम मजदूरी की मांग को लेकर झंझारपुर नगर पंचायत के विभिन्न वार्डो के सफाई में लगे सफाई मजदूरों ने नौवीं दिन भी हड़ताल पर डटे रहे। वहीं विधायक नीतीश मिश्रा के झंझारपुर एक कार्यक्रम समाप्ति के अपना दुःख दर्द सुनाते हुए मांग पत्र सौंप कर न्याय की गुहार लगाते हुए मजदूरी कटौती बंद कर सरकार के द्वारा जारी न्यूनतम मजदूरी की मांग किया है। मांग पत्र सफाई मजदूरों ने उस वक्त सौंपा जब स्थानीय विधायक श्री मिश्रा अनुमंडल अस्पताल आयोजित एक कार्यक्रम समाप्ति के बाद जब जाने लगे तो घंटों से इंतजार कर सफाई मजदूरों ने उन्हें रोककर अपनी दुःख दर्द का सुनाते हुए मांग पत्र सौंपा। विधायक ने बड़े गंभीरता से सफाई मजदूरों का एक एक बात को सूना और आश्चर्य व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि डीएम और नगर विकास से बात करते हैं। इससे पहले झंझारपुर नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी से जानकारी प्राप्त कर लेते हैं। सफाई मजदूरों की आस जगी है कि न्याय मिलेगा। अब देखना है कि आने वाले समय में नगर पंचायत सफाई कर्मियों की हक हकूक मिलता है या नहीं।

Share this story