×

दरभंगा : निर्धारित दर से ज्यादा किराया लेनेवाले एंबुलेंस को करें जब्त, दर्ज कराएं प्राथमिकी : डीएम

दरभंगा : निर्धारित दर से ज्यादा किराया लेनेवाले एंबुलेंस को करें जब्त, दर्ज कराएं प्राथमिकी : डीएम

एंबुलेंस पर भी निर्धारित दर की सूचना लगी रहनी चाहिए। यदि कोई ज्यादा किराया लेते हुए पकड़ा जाता है, तो एंबुलेंस जब्त करते हुए उसके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराएं। उपरोक्त बातें जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम ने कही। समाहरणालय स्थित आंबेडकर सभागार में डीएम व वरीय पुलिस अधीक्षक बाबू राम बुधवार को लॉकडाउन के अनुपालन को ले समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। डीएम ने सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को प्रखंडों में भ्रमण कर ग्रामीण क्षेत्रों के हाट बाजार में लॉकडाउन का अनुपालन कराने का निर्देश दिए। साथ ही आवश्यक वस्तुओं की कीमतों पर भी निगरानी रखने को कहा। प्रखंड विकास पदाधिकारी को संबोधित करते डीएम ने कहा कि मास्क का वितरण तेजी से कराएं।जिले में सीटी स्कैन एवं एंबुलेंस के लिए सरकार द्वारा दर निर्धारित है। निर्धारित दर से ज्यादा चार्ज लेने वालों पर त्वरित कार्रवाई करें।  सभी कंटेनेमेंट जोन में सैनिटाइजेशन करवाएं। होम आइसोलेशन वाले मरीज को निश्चित रूप से जांच रिपोर्ट के साथ ही दवा की किट्स उपलब्ध कराएं। लोगों में जागरूकता लाने के लिए माइकिग जारी रखी जाए। बताया गया कि राज मैदान, पोलो मैदान, बेंता चौक, सुभाष चौक एवं प्रखंडों के हाट-बाजार में लग रहे भीड़ पर संबंधित थानाध्यक्ष नियंत्रण रखें। यदि कोई शारीरिक दूरी या मास्क का प्रयोग करते नहीं पाया जाता है, तो उस पर कार्रवाई करें। भीड़-भाड़ वाले स्थलों को चिन्हित करें। कहा कि कई जिलों में दवा एवं ऑक्सीजन की कालाबाजारी की सूचना प्रसारित की जा रही है। वहां के पुलिस पदाधिकारी अपने गुप्तचर के माध्यम से डीएमसीएच एवं निजी अस्पतालों के आस-पास से इससे संबंधित सूचना संग्रहित करते रहें। यदि कहीं भी दवा व ऑक्सीजन की कालाबाजारी की सूचना मिलती है, तो त्वरित कार्रवाई की जाए। वहीं, एसएसपी बाबू राम ने सभी थानाध्यक्षों को सख्त हिदायत दी कि सब्जी मंडी में एक जगह भीड़ एकत्रित नहीं होनी चाहिए। बाजार का और अधिक जगहों में फैलाव किया जाए, ताकि शारीरिक दूरी का अनुपालन सुनिश्चित कराया जा सकें। बैठक में नगर पुलिस अधीक्षक अशोक प्रसाद, अपर समाहत्र्ता (राजस्व) विभूति रंजन चौधरी, अपर समाहत्र्ता (विभागीय जांच) अखिलेश प्रसाद सिंह, सिविल सर्जन डॉ. संजीव कुमार सिन्हा, जिला आपूर्ति पदाधिकारी अजय कुमार, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी अजय कुमार, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. अमरेंद्र कुमार मिश्र एवं संबंधित पदाधिकारी मौजूद थे।

Share this story