×

संकष्टी चतुर्थी के दिन श्री गणेश की करे इस विधि से पूजा

संकष्टी चतुर्थी के दिन श्री गणेश की करे इस विधि से पूजा

हिंदू धर्म में संकष्टी चतुर्थी को बहुत ही खास महत्व दिया जाता हैं। भगवान श्री गणेश को शुभ कार्यों का देवता माना जात हैं। किसी भी शुभ कार्य को शुरू करने से पहले श्री गणेश की स्तुति की जाती हैं। श्री गणेश की पूजा का महत्व संकष्टी चतुर्थी के दिन खास हो होता हैं। संकष्टी चतुर्थी के दिन श्री गणेश की करे इस विधि से पूजावही पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक अगर आप इस दिन पूरे श्रद्धाभाव के साथ भगवन गणेश की स्तुति करते हैं। तो आपकी हर इच्छा पूर्ण हो जाती हैं। वही श्री गणेश को प्रसनन करने के लिए आज के दिन विशेष पूजा की जाती हैं तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं उस पूजा विधि के बारे में तो आइए जानते हैं। संकष्टी चतुर्थी के दिन श्री गणेश की करे इस विधि से पूजाआपको बता दें कि संकष्टी चतुर्थी हर महीने की कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाई जाती हैं। वही पूर्णिमा के बाद आने वाली चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी कहते हैं और अमावस्या के बाद आने वाली चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहा जाता हैं। संकष्टी चतुर्थी को श्री गणेश की पूजा करके विशेष आशीर्वाद प्राप्त किया जा सकता हैं।संकष्टी चतुर्थी के दिन श्री गणेश की करे इस विधि से पूजा वही सेहत की समस्या को खत्म करने के लिए आज का दिन भगवान गणेश की पूजा करें। संकष्टी चतुर्थी के दिन भगवान गणेश की विधि विधान से पूजा करके उन्हें प्रसन्न किया जाता हैं जिससे उनका आशीर्वाद प्राप्त हो और सेहत के अलावा घर में गृहक्लेश की समस्या हमेशा के लिए समाप्त हो जाए। आज के दिन व्रत रखकर भगवान श्री गणेश से मनचाहे फल की कामना की जाती हैं इस दिन सूर्योदय से पहले स्नान कर स्वच्छ हो जाए श्री गणेश की पूजा करें।संकष्टी चतुर्थी के दिन श्री गणेश की करे इस विधि से पूजा

संकष्टी चतुर्थी हर महीने की कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाई जाती हैं। पूर्णिमा के बाद आने वाली चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी कहते हैं और अमावस्या के बाद आने वाली चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहा जाता हैं। संकष्टी चतुर्थी को श्री गणेश की पूजा करके विशेष आशीर्वाद प्राप्त किया जा सकता हैं। संकष्टी चतुर्थी के दिन श्री गणेश की करे इस विधि से पूजा

Share this story