×

Rajasthan: बेनीवाल ने सरकार पर बोला हमला, कहां ICU में है राजस्थान की कानून व्यवस्था

Rajasthan: बेनीवाल ने सरकार पर बोला हमला, कहां ICU में है राजस्थान की कानून व्यवस्था

जयपुर डेस्क। राजनीतिक उथल-पुथल झेल रही राजस्थान की राजनीति में अब राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल लगातार प्रदेश की सरकार पर हमला बोल रहे हैं। हाल ही में हनुमान बेनीवाल ने कांग्रेस पार्टी की सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि राजस्थान में इस तरह के राजनीतिक हालात हैं कि पूरी कानून व्यवस्था आईसीयू में नजर आती है उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस के कार्यकाल में अपराध अपने चरम पर राजस्थान में पहुंच चुका है।

Rajasthan: बेनीवाल ने सरकार पर बोला हमला, कहां ICU में है राजस्थान की कानून व्यवस्था

हनुमान बेनीवाल ने यह ऐलान किया है कि जिस समय राजस्थान में वैक्सीनेशन का कार्यक्रम पूर्ण रूप से समाप्त हो जाएगा उसके बाद उनकी पार्टी द्वारा राज्यव्यापी एक आंदोलन शुरू किया जाएगा। उन्होंने दोनों ही पार्टियों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस दोनों ही राज्य के लिए कुछ नहीं कर सकी है। इसके अलावा उन्होंने सत्ताधारी पार्टी के नेताओं पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन और ब्लैक फंगस के कारण लोगों की मौत हुई लेकिन प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री और भाजपा के नेता सिर्फ बयानबाजी नहीं व्यस्त रहे।

Rajasthan: बेनीवाल ने सरकार पर बोला हमला, कहां ICU में है राजस्थान की कानून व्यवस्था

हनुमान बेनीवाल ने कहा कि राजस्थान आज इस दुर्दशा में से गुजर रहा है इसकी जिम्मेदार है कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी दोनों दल है क्योंकि इन्होंने ही पिछले लंबे समय से अपनी पार्टियों की सरकार बनाई, लेकिन राजस्थान की आम जनता को कुछ भी नहीं मिल सका। पार्टी संयोजक हनुमान बेनीवाल ने कहा कि राजस्थान में कोरोना की संकट में स्थितियां समान हो जाने के बाद पार्टी इन सभी मुद्दों को लेकर एक जन आंदोलन शुरू करेगी।Rajasthan: बेनीवाल ने सरकार पर बोला हमला, कहां ICU में है राजस्थान की कानून व्यवस्था

के अलावा उन्होंने राजस्थान पुलिस से अपील की है कि प्रदेश की कानून व्यवस्था को सुदृढ़ किया जावे और और लगातार आ रहे अपराधों की जानकारियों पर कार्रवाई की जाए जिससे कि राजस्थान की कानून व्यवस्था मजबूत हो और इसके साथ-साथ राजस्थान में महिला उत्पीड़न और बालिकाओं के लिए कुकृत्य और छेड़छाड़ जैसे मामलों में जो बढ़ोतरी हो रही है उसमें कमी आ सके।

Share this story